Breaking News

हमे स्थायी और झेत्र से जुडा उमिद्वार चाहिए ना कि पल्टीबाज और बिकाउ उमिद्वार, अल्पसंख्यक किसी पार्टी और नेता के जागीर नहीं हैं उनके पास बहुत सारे विकल्प है–प्रो0 परवेज आलम

 

 

ब्यूरो रिपोर्ट पश्चिम चम्पारण    बेतिया। एनसीपी का राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस से गठबंधन है और बिहार में कांग्रेस का अन्य झेत्रिय दलो से जिसका सम्मान करते हुए मैने अभी तक इस जिले के दोनों लोकसभा सीट पर भी प्रत्याशी नहीं दिया हूँ। परंतु जिस प्रकार यहाँ महागठबंधन के नेतावो द्वारा अभी तक प्रत्याशी कि घोषणा ना कर विरोधी को वाक्वोभर देने का काम कर रहे हैं। ये यहाँ के जनता और लोकतंत्र का अपमान है। जो जो उम्मीदवार अपनी पार्टी के प्रचार लिये रात दिन एक कर लगातार झेत्र में रहकर चुनाव कि तैयारी कर रहे थे। आज उनको टिकेट ना देकर और समाजवाद को दरकिनार कर जातिवाद के आधार पर चंद प्रतिशत वाले लोगों को महागठबंधन का उम्मीदवार बनाने कि चर्चा है। उनकी ये सोच है चाहे हम जिस को टिकेट दे देंगे। चाहे वो झेत्र के लिए नया हि क्यों ना हो सेकुलर वोट अल्पसंख्यक वोट को मजबूरी है उन्हें वोट देना ये उनका भ्रम है। अल्पसंख्यक किसी पार्टी और नेता के जागीर नहीं हैं। उनके पास बहुत सारे विकल्प है। एक नोटा भी विकल्पों में है हमे स्थायी और झेत्र से जुडा उमिद्वार चाहिए ना कि पल्टीबाज और बिकाउ उमिद्वार? अब भी समय है महागठबंधन के नेताओ के पास। सोझ समझकर झेत्र से जुडे और जितने वाला हि उमिद्वार उतारे और फैसला अविलम्ब ले। उक्त बातें राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (अल्प.संख्य .विभाग) राष्ट्रीय महासचिव सह जिला अध्यक्ष प्रो0 परवेज़ आलम ने कहा।

Check Also

महागठबंधन के प्रत्यासी ने किया क्षेत्र में जंसम्पर्क, अपने पक्ष में मांगा वोट

    मझौलिया एन0 आलम की रिपोर्ट मझौलिया।।प्रखंड क्षेत्र के तिरवाह इलाकों में महागठबंधन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *