Breaking News

देश के किसान मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने का मन बना चुके हैं–प्रभुराज नारायण राव

 

ब्यूरो रिपोर्ट पश्चिम चम्पारण   बेतिया। अखिल भारतीय किसान सभा, रिक्शा मजदूर सभा, बिहार राज्य किसान सभा, भारतीय किसान संघ बिहार, बिहार राज्य ईंख उत्पादक संघ, भारतीय किसान यूनियन बिहार की बैठक बलिराम भवन में का0 ओमप्रकाश क्रांति की अध्यक्षता में हुई। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के जिला संयोजक प्रभुराज नारायण राव ने कहा कि आज देश के किसान घाटे में खेती करने पर मजबूर हैं।किसानों से झूठा वादा कर भाजपा की मोदी सरकार बन तो गयी। लेकिन देश के किसान मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने का मन बना चुके हैं। बिहार सरकार भी किसान विरोधी रास्ते पर ही चल रही है। किसान सभा किसानों के सभी प्रकार के कृषि कर्ज माफ करने, फसल में लागत का डेढ़ गुना दाम देने, गन्ना का दाम 4 सौ रुपये प्रति क्विंटल करने, चीनी मिलों में बकाये पैसे का भुगतान ब्याज सहित करने, सभी किसानों को 5 हजार रुपये पेंशन देने, आवारा पशुओं से किसानों के फसल को बचाने,बकिसानों के मवेशियों को खरीदने के लिए ब्यापारियों को सुरक्षा देने, बढ़ते अपराध पर रोक लगाने, सभी भूमिहीनों को 10 डिसमिल वास की जमीन देने तथा मकान बनाने, महिलाओं तथा दलितों पर हो रहे हमले पर रोक लगाने, मनरेगा से सभी खेत मजदूरों को काम देने, न्यूनतम मजदूरी केरल के समान सभी मजदूरों को 18 हजार रुपये मासिक देने आदि मांगों को पूरा करने के लिए बिहार के 30 संगठनों के किसान तथा खेत मजदूर 18 फरवरी को पटना में विधान सभा मार्च करेंगे। पश्चिम चम्पारण जिला से 5 हजार किसान तथा खेत मजदूर मार्च में भाग लेने के लिए पटना जायेंगे। बैठक में अखिल भारतीय किसान सभा के बिहार के संयुक्त सचिव प्रभुराज नारायण राव, बिहार राज्य किसान सभा के जिला मंत्री राधा मोहन यादव, अशोक मिश्र, भारतीय किसान संघ के बिहार अध्यक्ष नन्दकिशोर विकल, लाल बाबू यादव, खेतिहर मजदूर यूनियन के जिला सचिव प्रभुनाथ गुप्ता, शंकर कुमार राव , भारतीय किसान संघ के बिहार अध्यक्ष नेसार अहमद आदि भाग लिये।

Check Also

शहीद जवानों के प्रति मझौलिया प्रखंड क्षेत्र के जगह-जगह पर निकला गया कैंडल मार्च

  मझौलिया एन0 आलम की रिपोर्ट मझौलिया। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुई आतंकवादी घटना में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *