सिकटा +2 विद्यालय के नव निर्मित भवन की जर्जरता को देख प्रबंध कार्यकारिणी समिति व ग्रामीणों स्तब्ध,मुख्यमंत्री व मंत्री से की शिकायत

 

 

सिकटा(चितंरजन कुमार गुप्ता )। स्थानीय +2 विद्यालय के नव निर्मित भवन की जर्जर हालत को देख विद्यालय प्रबंध कार्यकारिणी समिति के अलावे ग्रामीणों स्तब्ध है।जो इन दिनों मुख्यालय में चर्चा का विषय बना हुआ है।जानकारी के अनुसार छात्रों के भविष्य व उनके जान पर गम्भीर खतरा बताते हुए भवन निर्माण में भारी अनियमितता बरते जाने की शिकायत सूबे मुख्यमंत्री नितीश कुमार व स्थानीय विधायक सह सूबे के गन्ना विकास व अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद , डीईओ व बीडीओ से किया है। विद्यालय प्रबंध कार्यकारिणी समिति के शंकर साह के अलावे पैक्स अध्यक्ष राजेश कुमार व ग्रामीण तबरेज आलम , रमेश प्रसाद आदि ने कहा है कि +2 भवन का निर्माण कराया गया। नये भवन के निर्माण में लोकल बालू व घटिया सामग्रियों का उपयोग किया गया। जिसका परिणाम करीब दो साल में दिखने लगा है। नव निर्मित भवन जर्जर अवस्था में जाकर खतरे को आमंत्रित करने लगा है। दिवाल क्षतिग्रस्त होने लगा है। दरवाजा व खिडकियां टुटने लगा है। दरवाजों में लगी लकडियां अत्यंत सड़े हुए है। इसे पेंटकर ढका गया है। बिजली की वायरिंग लोकल तार व लो क्वालिटी के लगाये गये है। शौचालय में संगमर्मर का टाइल्स लगा है।वह भी घटिया किस्म का है। कुछ ही समय बाद टुट गये है। हालांकि निर्माण के समय ही इसकी जांच कर छात्रोंं के जान को ध्यान में रखते हुए भवन बनाने का हिदायत दिया गया था।पर संवेदक ने एक नही सुनी। इस बीच विद्यालय के एचएम सुर्य राम ने नये भवन को अपने हैंड में ले लिया। तुरंत बाद से भवन क्षतिग्रस्त होने लगे। संवेदक व एचएम ने फिर से मरम्मत कार्य आरम्भ किया है। इसके लिए भी लोकल बालू भवन के पास रखा गया है। मरम्मत कार्य रोक के बाद भी जारी है। समिति के सदस्यों ने अनियमितता को उजागर करने को लेकर संवेदक व एचएम पर धमकाने का भी आरोप लगाया है। इस संदर्भ में एचएम सुर्य राम ने कहा कि भवन तो मैने हैंड ओवर कर लिया है। इसके निर्माण में क्या गडबडियां है। इसकी जानकारी तकनीकी जानकार कनीय अभियंता व सहायक अभियंता को ही है। हमें भवन दिया गया। जिसे मैने रिसीव किया। अभी मरम्मत कार्य को समिति ने रोक लगाया है। कार्य बंद है।हालांकि नवनिर्मित भवन में आज तक वर्ग संचालन नहीं हो सका है।नहीं तो कोई भी अनहोनी से इंकार नहीं किया जा सकता।

Check Also

एसडीएम ने सिकटा अंचल कार्यालय का किया औचक निरीक्षण

  पंजी का अवलोकन करते एसडीएम चंदन चौहान सिकटा(चितंरजन कुमार गुप्ता )। प्रधान सचिव,राजस्व एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *