बिहार में कानून व्यवस्था में ओर सुधार लाने के लिए बिहार सरकार को शसक्त कदम उठाने की जरूत ।

 बिहार में जिस तरह से बर्तमान समय में अपराध, हत्या, लूट , अपहरण और बहू , बेटियों के साथ बलात्कार की घटना हो रही है । ऐसा प्रतीत हो रहा है कि मौजूदा  सरकार की कानून व्यवस्था से आम लोगों
में हर समय भय का माहौल बना रहता है ।
खास कर लड़कियों को बाहर निकलते ही महिला परिजनों में हमेशा मन में अनहोनी घटना घटने की आशंका बनी रहती है ।

वैसे बिहार में एनडीए की मोजूदा सरकार की कानून व्यवस्था पर विपक्ष भी सरकार पर लगातार हमला बोल रहा है ।

बिहार कि कानून व्यवस्था की मौजूदा स्थिति पर पुर्णिया के आम लोगो से बात कर यह जानने की कोशिश की है की सरकार को कितना और कानून व्यवस्था पर शसक्त रहने की जरूत है ताकि बिहार एक अपराध मुक्त राज्य की श्रेणी में आ सके ।

इस पर परुषो के साथ महिलाओ ने भी अपनी भागीदारी देते हुए कहा है की मोजूदा सरकार में पहले की भांति कानून व्यवस्था बिहार में टिक नही है । बिहार सरकार को कानून व्यवस्था में सुधार करने की जरूरत है । बिहार में बहु, बेटियों की सुरक्षा में सरकार को एक ठोस कदम इख्तियार करनी चाहिए।
अपराध पर नियंत्रण पर सरकार ने कई दिशानिर्देश
जारी तो करते है पर उस पर अमल नही होता है ।
इसके लिए सरकार को सर्व प्रथम पुलिस प्रशासन सिस्टम को चुस्त दुरुस करना होगा , तभी बिहार में अपराध कम हो सकता है ।

Check Also

खेल को खेल भावना से खेलकर शिखर पर पहुंच सकते है : डायरेक्टर वसीम आलम

  उद्घाटन मौके पर अतिथिगण सिकटा(चितरंजन कुमार गुप्ता)। बरदही गांव अवस्थित छठिया घाट अहाते में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *