लोकतंत्र एवं संविधान को बचाने का संदेश देने कन्हैया कुमार 9 अगस्त 2018 को बेतिया के पावन धरती पर आ रहे–ओम प्रकाश क्रांति

ब्यूरो रिपोर्ट प0 चंपारण:

बेतिया। अंग्रेजों के जुल्म, शोषण एवं अत्याचार से मुक्ति दिलाने के लिए आज से 100 वर्ष पूर्व राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने इसी चंपारण से आंदोलन तेज किया था। क्रांतिकारी भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद ने भी चंपारण की जनता को लगातार आजादी के आंदोलन को बल देने का काम किया। आज जब देश के किसान आत्महत्या कर रहे हैं, मजदूर बेकार हो रहे हैं, नौजवानों को काम हो रहा है, शिक्षा की दशा बद से बदतर है, छोटे व्यवसाय गलत नीतियों से की मार से परेशान है, महिलाओं के साथ रोज रोज जुल्म ज्यादती हो रही है। प्रदेश आर्थिक संकट से जूझ रहा है, संघर्ष के लिए आगे बढ़ना चाहता है, तो देश के विकास को पीछे धकेलने वाली शक्ति है, आज अन्धविश्वास एवं झूठ में फरेब कर सम्मान के साथ जीने के लिए अधिकतर आंदोलन को दिग्भ्रमित कर रही है तथा छल का प्रयोग कर जन आंदोलन को कुचला जा रहा है।

उक्त बातें भारतीय कमुनिस्ट पार्टी के जिला मंत्री ओमप्रकाश क्रांति में 9 अगस्त 2018 को बेतिया में आ रहे कन्हैया कुमार की आगमन को लेकर कहा। उन्होंने आगे कहा कि सच्चाई को उजागर करने वाले तथा देश के संविधान एवं लोकतंत्र की मर्यादा की रक्षा करने वाले पत्रकारों, वैज्ञानिकों चिंतकों को मौत के घाट उतार कर अपने जूतों पर डाला जा रहा है। समस्या को उजागर कर देश के किसानों मजदूरों छात्रों नौजवानों महिलाओं, दलित, अल्पसंख्यक, छोटे व्यवसाइयों, धर्मनिरपेक्ष शक्तियों, सच्चे देशभक्तों को एकजुट होकर देश के लोकतंत्र एवं संविधान को बचाने का संदेश देने कन्हैया कुमार 9 अगस्त 2018 को बेतिया के पावन धरती पर आ रहे हैं। उस सभा को 10 हजार से अधिक लोग के साथ कन्हैया कुमार का स्वागत किया जाएगा।

Check Also

जावेद बने प्रखंड सिकटा के राजद के कार्यकारी अध्यक्ष !

🔊 Listen to this  जावेद अख्तर उर्फ पप्पू   सिकटा(चितंरजन कुमार गुप्ता )। प्रखंड राजद के …