पिंकशी पावर मीडिया अवार्ड से नवाजे गये अंकित पीयूष

Report: Sanjana Singh

रेशम फैशन एंड ज्वैलरी प्राइवेट लिमिटेड और अनुमाया ह्यूमन रिसोर्स फाउंडेशन के सौजन्य से राजधानी पटना के गंगा रिसोर्ट में फैशन और मॉडलिंग हंट शो मिस एंड मिसेज फैशनिस्टा (नौर्थ इंडिया) का क्राउन लॉन्च किया गया। इस अवसर पर पत्रकारों को उनके  उल्लेखनीय योगदान को देखते हुये पिंकशी पावर मीडिया अवार्ड से सम्मानित किया गया। अंकित पीयूष को मीडिया के क्षेत्र उनके उल्लेखनीय योगदान को देखते हुये पिंकशी मीडिया पावर अवार्ड से नवाजा गया है।
अभिनेता और फिल्मकार अंकित पीयूष करीब एक दशक से फिल्मी दुनिया में सूरज की तरह चमक रहे हैं और आज की युवा पीढ़ी के लिये मिसाल बन गये है। बिहार के मुजफ्फरपुर शहर के रहने वाले अंकित पीयूष के पिता जनकवि महेश ठाकुर चकोर और मां पुष्पा चकोर घर के सबसे छोटे चश्मों चिराग को उच्चअधिकारी बनाने का ख्वाब देखा करते थे।  गोविंदा को आदर्श मानने वाले अंकित पीयूष फिल्मी दुनिया में अपना नाम रौशन करना चाहते थे। अंकित अक्सर स्कूल में होने वाले नाटकों में अभिनय किया करते जिसके लिये उन्हें काफी सराहना मिलती थी।
वर्ष 2010 में अंकित पीयूष ने अपने करियर की शुरूआत बतौर अभिनेता छठ पर आधारित एक अलबम से की जिसमें उनके काम को काफी सराहना मिली। वर्ष 2011 में मैट्रिक की पढ़ाई पूरी करने के बाद अंकित पीयूष ने डासिंग का भी कोर्स किया। इसके बाद अंकित ने कई अलबम में अभिनय किया। वर्ष 2014 में अंकित पीयूष के करियर का अहम पड़ाव साबित हुआ। अपने पिता की लिखी कहानी पर अंकित पीयूष ने शार्ट डाक्यूमेट्री फिल्म ‘इंसान का देश’ का निर्माण और निर्देशन किया। फिल्म में अंकित ने दमदार अभिनय से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया।
अंकित पीयूष भोजपुरी माटी से जुड़े हुये और भोजपुरी की संस्कृति को आगे ले जाना चाहते हैं। इसी को देखते हुये अंकित ने वर्ष 2015 में भोजपुरी मीडिया डॉट नेट  नाम की वेबसाइट शुरू किया। इस साइट के जरिये अंकित भोजुपरी सिनेमा कलाकार और उनकी फिल्मों को प्रोमोट कर रहे हैं। अंकित पीयूष आज कामयाबी की बुलंदियों पर है। अंकित अपनी सफलता का श्रेय परिवार वालों को देते हैं जिन्होंने उन्हें हर कदम सपोर्ट किया है।

Check Also

Wall St. gets immune to trade war rhetoric

Wall St. gets immune to trade war rhetoric

🔊 Listen to this For investors, it is a negotiating tool’ Fears of tariffs and …