All for Joomla All for Webmasters
May 24, 2018
You can use WP menu builder to build menus

  फोटो-   साटेबाज संग पुलिस

सिकटा(चितंरजन कुमार गुप्ता)।पुलिस टीम ने सिकटा बाजार से सोमवार की देर शाम को फिल्मी स्टाइल में छापेमारी कर आठ आईपीएल सट्टेबाजों को धर -दबोचा है।धराये सट्टेबाज की पहचान सिकटा के बरदही गांव निवासी अहमद सिकंदर व उसका पुत्र इस्तखार अहमद के अलावे सिकटा के रिषी कुमार , दीपक कुमार , विट्टू चौरसिया व उसका चाचा सत्यनारायण चौरसिया , सोनू कुमार व राजू कुमार के रूप में हुई। पुलिस इस कार्रवाई में नेपाली बारह हजार व  28920 भारतीय रूपया के अलावे  सोलह मोबाईल , एक 12 व 8 इंच लंबा चौड़ा साइज का एलसीडी , एक एयरटेल का सेट आफ बाक्स जब्त किया है। पुलिस की इस कार्रवाई से लोगों में काफी खुशी है। नरकटियागंज एसडीपीओ निसार अहम्मद ने बताया कि गुप्त पर सिकटा रेलवे स्टेशन के उत्तर स्टेशन चौक पर एक पान के दुकान पर आईपीएल मैच को लेकर सट्टेबाजी कर बोली लगाया जा रहा है।जिस पर स्थानीय थाना की पुलिस को टीम बनाकर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया।मैनाटांड पुलिस अंचल के इस्पेंक्टर सीताराम साह के नेतृत्व में सिकटा थाना के एएसआई जयराम तिवारी , बलथर थानाध्यक्ष चन्द्रभूषण कुमार सिंह व कंगली थानाध्यक्ष सुधीर कुमार समेत कई ने सदल-बल के साथ टीम ने छापेमारी किया। इस दौरान आईपीएल मैच के चलते समय सट्टेबाजों द्वारा एक- दूसरे को धोखाधड़ी व चालबाजी करते हुए ज्यादा पैसा कमाने के लिए सामूहिक तौर पर सट्टाबाजी का खेल खेला जा रहा था।यह खेल स्टेशन चौक स्थित सिकटा बरदही गांव निवासी अहमद सिकन्दर के पान दुकान के गूमटी में संचालित हो रहा था। वहां टीवी चलाते हुए आउट एवं चौका- छक्का लगाने की बात पर गेम खेला जा रहा था। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर वही पुलिस को देख कुछ लोग मौका देख भाग निकले।पुलिस ने पान की गुमटी व गिरफ्तार सट्टेबाजों के पास से उक्त समान बरामद किया।पुलिस की इस कार्रवाई से सटाबाजों में हड़कम हैं।

फिल्मी स्टाइल में हुई सटेबाजों की धर -पकड़

कोई कह रहा था पटना से आयी क्राइम ब्रांच की टीम है ,कोई कह रहा था एसटीएफ की टीम है।टीम के द्वारा सटेबाजों की धर-पकड़ कर लेकर चलते बनना।लोगों में चर्चा का विषय बना रहा।जितनी मुंह उतनी बातें सुनने को मिल रहा था। सटेबाजों की गिरफ्तारी फिल्मी स्टाइल में तबातोड़ पुलिस टीम ने की।गिरफ्तारी के बाद लोगों द्वारा सिकटा थाना की ओर गुपचुप तरीके से तहकीकात करने में जुट गये। लेकिन वहां गिरफ्तार सटेबाजों को नहीं देख लोगों की जुबान पर एसटीएफ व क्राइम ब्रांच के द्वारा गिरफ्तारी की सिकटा की चौक -चौराहो पर बात होने लगी।सटेबाजों की गिरफ्तारी इलाके में आग की तरह फैल गयी। पुलिस टीम ने साटेबाजों को गिरफ्तार कर सिकटा थाना नहीं रखकर अन्यत्र रख दिया था। इस्पेंक्टर सीताराम साह के नेतृत्व में कंगली, सिकटा व बलथर थाना के द्वारा की इस बड़ी से लोगों हर्ष है।इधर लोगों द्वारा सिकटा बाजार में प्रशासन के मिलीभगत से आधा दर्जन से ज्यादा कारोबारी द्वारा लाटरी का कारोबार फल फुल रहा है।जिसपर कार्रवाई की मांग की है। सटेबाजी व लाटरी के खेल में कई लोग सड़क पर आ चुके है। बहरहाल पुलिस की जांच में दर्जनों लोग चपेटे में आ सकते है।

सट्टेबाजों का तार अंतराष्ट्रीय गिरोह से :एसडीपीओं

आईपीएल मैच के सट्टेबाजी खेल खेलाकर सिकटा में अमीर बनने की तार अन्तरर्र्ष्टीय गिरोह समेत देश के कई बड़े शहरों से जूड़ा है।यह खेल यहां कोई नया नहीं खेला जाता है। इसकी शिकायत पहले भी मिलते रहे है। पुलिस ने कई बार इससे पर्दा उठाने के प्रयास किया है पर असफलता ही हाथ लगा। इस बार पुलिस की पकड़ सट्टेबाजों पर भारी पड़ी है। पुलिस की इस कार्रवाई में एक ही रात आठ को गिरफ्तार कर लिया गया ।नरकटियागंज के एसडीपीओ निसार अहमद ने बताया कि सट्टेबाजों की तार कई अंतराष्ट्रीय शहरों से जुड़ा है।यह गिरोह रातोंरात करोड़पत्ती बन जाता है पुलिस की इस कार्रवाई से जहां मुठ्ठी कुछ लोगों में मायुसी है, तो सैकडों बुद्धीजीवियों में खुशी है। सट्टेबाजी के अलावे लाटरी के इस खेल से कई लोग अमीर बन गये वहीं सबसे अधिक कंगाल बन कर कठीन जिंदगी जिने पर मजबूर हो गये है। इस खेल का नशा अधिकतर युवाओं में है। जो घर से किसी बहाने पैसे लेकर सट्टेबाजी में भाग लेकर अपना सर्वस्व गवां बैठते है। पुलिस की इस कार्रवाई को सर्वत्र सराहा जा रहा है।