प्रक्षिशण मॉड्यूल तैयार करने के हेतु फीडबैक लेने के लिए राज्य के पांच जिले प0 चम्पारण, बांका, पटना, पूर्णिया और गया जिले का चयन किया गया है–मेरी एडलिन

 (ब्यूरो रिपोर्ट) प0 चम्पारण बेतिया। जनशिक्षा निदेशालय पटना एवं यूनिसेफ के माध्यम से टोला सेवक और शिक्षा सेवियों के लिये प्रक्षिशण मॉड्यूल तैयार करने के हेतु फीडबैक लेने के लिए राज्य के पांच जिले प० चम्पारण, बांका, पटना, पूर्णिया और गया जिले का चयन किया गया है। इसके लिए प० चम्पारण जिले में यूनिसेफ के DEVNET डेवनेट संस्था के द्वारा TNA (ट्रेनिग नीड असिसमेन्ट) कार्यक्रम का आयोजन हेतु जिला स्तरीय बैठक का आयोजन जिला साक्षरता कार्यालय में किया गया। बैठक में महादलित, दलित, अल्पसंख्यक और अतिपिछड़ा वर्ग अक्षरांचल योजना और साक्षरता के कार्यक्रम पर विस्तार से चर्चा किया गया। बैठक में जनशिक्षा निदेशालय पटना और यूनिसेफ के साधनसेवी पंकज कुमार, देवेंद्र किशोर झा और सकलदीप पासवान एस० आर० जी० जमुई ने विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा किया गया। उसके बाद राज्य स्तरीय टीम के द्वारा जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सरवर जहाँ, एस० आर० जी० मेरी एडलीन, मुख्य समन्वयक अरुण कुमार, के० आर० पी० मैनाटांड़ सीमा कुमारी और के० आर० पी० मझौलिया उपेंद्र शुक्ल से व्यक्तिगत रूप से अलग- अलग सुझाव, फीडबैक लिया गया। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी साक्षरता सरवर जहाँ ने बताया यह टीम दो दिनों तक चयनित दोनों प्रखंडों मझौलिया और मैनाटांड़ में जाकर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, प्रखंड समन्वयक और टोला सेवक और तालीमी मरकज़ शिक्षा स्वयंसेवी से फीडबैक लेंगे। उसके बाद मॉड्यूल का निर्माण किया जाएगा ।साथ ही टोला सेवकों और तालीमी मरकज़ शिक्षा स्वयंसेवी को शैक्षिक रूप से सुदृढ करने हेतु प्रशिक्षण का आयोजन किया जाएगा। बैठक में जिला साक्षरता सदस्य सहित लिपिक साक्षरता अरुण कुमार और आईटी टी समन्वयक जेवियर फ्रांसिस भाग लिए।

Check Also

जावेद बने प्रखंड सिकटा के राजद के कार्यकारी अध्यक्ष !

🔊 Listen to this  जावेद अख्तर उर्फ पप्पू   सिकटा(चितंरजन कुमार गुप्ता )। प्रखंड राजद के …