ठेकेदारी के नाम पर सरकारी राजस्व की लूट का छूट मेरे कार्यकाल में संभव नहीं है.शिकंजा कसने से कई पार्षदों में खलबली.

इनके षड्यंत्र से मैं डरने वाली नहीं हूं, सरकारी राजस्व की लूट का खुला छूट मेरे कार्यकाल में संभव नहीं है–गरिमा देवी शिकारीया

ब्यूरो रिपोर्ट प0 चंपारण बेतिया। प0 चंपारण जिला के बेतिया नगर परिषद सभापति के विरुद्ध पार्षदों का एक गुट ने स्वेच्छाचारिता का आरोप लगाते हुए नप सचिव व कार्यपालक पदाधिकारी डॉ विपिन कुमार को एक ज्ञापन सौंपा है। इस ज्ञापन में नप की राजस्व वसूली में जिम्मेदारी नहीं निभाने वाले संग्राहक व पदाधिकारियों पर प्राथमिकी दर्ज करने का प्रस्ताव है। नप की 6.50 करोड़ के दावेदार 43 ठेकेदारों के सभी पत्रों की जांच का निर्णय भी शामिल है। इसके अलावा हाल ही में संपन्न स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 के नाम पर खरीदारी पर नियमों का शिकंजा कसने से लेकर पांच अन्य प्रस्तावों को रद्द करने की मांग भी शामिल है। ज्ञापन पर उपसभापति कयूम अंसारी पूर्व सभापति जनक शाह की पत्नी कुमारी शीला सभापति पद की प्रतिद्वंदी पार्षद लक्ष्मी ठाकुर सहित कई पार्षदों ने हस्ताक्षर किए हैं। इस बाबत सभापति ने बताया कि राजस्व संग्रहण के कार्य में कोताही व लापरवाही से हमारा निकाय आर्थिक संकट में आ जाएगा। नालों की सफाई व उडाही के नाम पर 1. 42 करोड़ खर्च के प्रस्ताव नकारने ,नप की योजनाओं की ठेकेदारी के नाम पर लूट की छूट पर शिकंजा कसने से कई पार्षदों में खलबली मच गई है। इनके षड्यंत्र से मैं डरने वाली नहीं हूं। मैं किसी भी तरह की जांच के लिए हमेशा तैयार हूं। सरकारी राजस्व की लूट का खुला छूट मेरे कार्यकाल में संभव नहीं है। आगे उन्होंने बताया कि 15 दिनों के अंदर पूरे नप कार्यालय व परिसर सीसीटीवी कैमरे से लैस होगा नप की अगली बैठक की कार्रवाई और तीसरी आंखों में कैद होगी। वहीं एक पार्षद ने बताया कि यह दबाव की राजनीति है। आवेदन पर कुछ पार्षदों द्वारा घूम-घूमकर हस्ताक्षर कराया जा रहा है पार्षदों को बैठक में विरोध करना चाहिए। कुछ लोगों ने यह कहकर हस्ताक्षर करवाया है कि एक हस्ताक्षर करने आसानी से रुपया मिल जाएगा। यह हस्ताक्षर अभियान तीन-चार दिनों पहले से चल रही है।

Check Also

भाजपा व जदयू ने सयुक्त रूप से शोक सभा किया आयोजित

🔊 Listen to this फोटो- सिकटा (चितंरजन कुमार गुप्ता) । सत्संग भवन (धर्मशाला ) में …