एमसीआई टीम के जाँच में कई बातें आई सामने.

 ब्यूरो रिपोर्ट प0 चंपारण बेतिया। मेडिकल कॉलेज में 280 शिक्षकों की पद है जिसमें 10 से 15 प्रतिशत तक कमी है, जो बहाली की प्रक्रिया से ही पूर्ण होंगे, सीटीएस स्क्रीन मशीन को लगाना था, लेकिन अभी तक नहीं लगा, अभी तक एम आर आई मशीन नहीं लगा है, जिसे भवन निर्माण के चलते बाधा बताया गया, ओटी रूम पहले दो था अभी सात है, निर्देश कम से कम पांच रहना चाहिए, लेक्चरर थिएटर पहले चार था अभी 7 है, इसे भी 5 थिएटर का निर्देश था, अल्ट्रासाउंड मशीन स्थापित हो चुका है, उक्त बातें एमसीआई की 2 सदस्य टीम के द्वारा पश्चिम चंपारण जिला में बेतिया गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज की जाँच में सामने आई। एमसीआई की 2 सदस्य टीम गुजरात के राजकोट पंडित दीनदयाल मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर सर्जरी विभाग डॉक्टर जेपी भट्ट एवं मैसूर मेडिकल कॉलेज में पदस्थापित प्रोफ़ेसर मेडिसिन विभाग एम श्रीनिवास के द्वारा बेतिया मेडिकल कॉलेज का जाँच किया गया। इस टीम का मुख्य उद्देश 2013 बैच के प्रायोगिक परीक्षा का निरीक्षण करना था। इस टीम में के द्वारा कॉलेज की जांच की गई। जिसमें शिक्षकों के पदों पर कमी, सीटीएस स्कैन मशीन नहीं लगना, अल्ट्रा साउंड मशीन स्थापित पाया गया, एम आर आई मशीन नहीं लगा आदि चीजों का निरीक्षण किया गया और भी कई चीजों का निरीक्षण किया गया। इस बाबत प्रचार्य से पूछे जाने पर बताया कि जांचोपरांत टीम के रिपोर्ट के अनुसार मान्यता रहेगी या समाप्त की जाएगी। लेकिन उम्मीद है बरकरार हो सकती है।

Check Also

गुलशन हत्या कांड मे पुलिस की निष्क्रियता पर परिजन व ग्रामीणो मे आक्रोश व्याप्त .

🔊 Listen to this  योगापटटी – छात्र गुलशन कुमार के हत्या कांड मे पुलिस की …