All for Joomla All for Webmasters
April 25, 2018
You can use WP menu builder to build menus

  धमदाहा – (मृत्युंजय रमण)धमदाहा अनुमंडल क्षेत्र के चारो प्रखंडो में इस समय दवा दुकानदारों के द्वारा सभी मानकों कि जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही है। और मेडिकल बिभाग इन सभी बातों को जानते हुए भी अंजान बना हुआ है। वहीं प्रत्येक महीने जांच के लिए आनेवाले ड्रग इंस्पेक्टर भी इन बातों से ऐसे अनभिज्ञ बने रहते हैं। जैसे इस बारे में उन्हें कुछ पता ही नही हो। नियमानुसार दवाइयों के दुकान पर फार्माशिस्ट को बैठना है और फार्माशिस्ट के नाम से हीं मेडिकल दुकान का।लाइसेंस निर्गत किया जाता है। परन्तु अनुमंडल क्षेत्र में लगभग दवा दुकानों पर जहाँ नियमों कि धज्जियां उड़ाते बगैर फार्माशिस्ट किये लड़के मौजूद रहते हैं। वहीं जिनके नाम पर दुकान का लाइसेंस बिभाग के द्वारा जारी किया गया है शायद ही कभी दुकान पर आते हैं। बताया जाता है कि जिला मुख्यालय में बैठे फार्माशिस्ट के नाम पर दर्जनों लोगों ने लाइसेंस लेकर अपना दुकान अनुमंडल क्षेत्र में खोल रखा है। और बदले में उसे एक तय रकम प्रत्येक महीने दुकानदारों के द्वारा पहुंचाया जाता है। इतना ही नहीं इन दुकानों में नियमो के बिरुद्ध प्रतिबंधित नशीली दवाईयां भी धड़ल्ले बेचने का काम किया जाता है। परन्तु प्रसाशनिक अधिकारियों के द्वारा इस तरफ किसी प्रकार का ध्यान नहीं दिया जाता है। बताते चलें कि धमदाहा अनुमंडल मुख्यालय के कुछ दुकानदारों के बिरुद्ध प्रसाशनिक अधिकारियों के पास प्रतिबंधित नशीली दवाई बेचे जाने को लेकर सामूहिक रूप से शिकायत भी किया जा चुका है। इसके बावजूद इनके बिरुद्ध किसी प्रकार कि कारवाई नहीं किया जा रहा है।

बर्बाद हो रहे हैं युवा :—–

सूबे में शराबबंदी के बाद इन दवा दुकानदारों कि चांदी कटने लगी है। इन नशीली दवाईयों के चक्कर मे फसकर ना सिर्फ अनुमंडल क्षेत्र के युवा वर्ग बर्बाद हो रहे हैं। बल्कि इसके चक्कर मे स्कूल एवं कॉलेज के छात्र भी अपना जीवन नशे में झोंक रहे हैं। आये दिन प्रतिबंधित कफ-सिरफ के दर्जनों खाली बोतलों को धमदाहा उच्च विद्यालय क्रीड़ा मैदान, बनमनखी रोड स्थित पुराने अस्पताल भवन, पुराने बीएनसी कॉलेज प्रांगण आदि जगहों में नष्ट किया जाता है। दर्जनों बार इसके बिरुद्ध सामूहिक रूप से आवाज उठाये जाने के बावजूद इस तरफ प्रसाशनिक स्तर से कोई सार्थक कदम नहीं उठाया जा रहा है। जिसको लेकर स्थानीय लोगों में काफी आक्रोश बना हुआ है।

बोले अधिकारी :—-

पवन कुमार मंडल, एसडीओ , धमदाहा।

अवैध प्रतिबंधित नशीली दवाई बेचे जाने कि सूचना पर उसके संबंधित बिभाग को जांच के लिये कहा जा चुका है। कुछ दिनों पूर्व कुछ दुकानों पर जांच भी करवाया गया है। दवा दुकानदारों के बिरुद्ध मिले शिकायतों कि जांच के लिए एक टीम का गठन किया जायेगा। जांचोपरांत दोषी पाए जाने पर दुकान को सील करते हुए दुकानदार के ऊपर सख्त कानूनी कार्रवाई किया जाएगा।