All for Joomla All for Webmasters
May 27, 2018
You can use WP menu builder to build menus

 देहरादून. विश्व प्रसिद्ध हिन्दू धाम बद्रीनाथ मंदिर के कपाट छह माह के शीतकालीन विश्राम के बाद इस वर्ष 30 अप्रैल को श्रद्धालुओं के लिए दोबारा खोल दिये जायेंगे।

बसंत पंचमी के पावन पर्व पर आज नरेंद्र नगर में टिहरी राज? परिवार के पुरोहित आचार्य कृष्ण प्रसाद उनियाल ने परंपरागत पूजा अर्चना के बाद भगवान बदरीनाथ मंदिर खुलने का शुभ मुहूर्त निकाला.

उनियाल ने महाराजा मनुज्येंद्र शाह की जन्म कुंडली और गृह नक्षत्रों की दशा देखकर बताया कि विश्व प्रसिद्ध भगवान बदरीनाथ के कपाट 30 अप्रैल को मीन लग्नानुसार ब्रह्ममुहूर्त में चार बजकर 30 मिनट पर भक्तों के लिए खोले जाएंगे.

बसंत पंचमी के पर्व पर नरेंद्रनगर राजमहल को फूल-मालाओं से सजाया गया था. इस मौके पर महाराजा मनुज्येंद्र शाह ने कहा कि पवित्र बद्रीनाथ धाम भहदुओं का सबसे बड़ा धाॢमक स्थल है जिसे शास्त्रों में मोक्ष धाम माना गया है.

भगवान विष्णु को समॢपत मंदिर के खुलने का मुहूर्त निकाले जाने के अवसर पर महारानी व टिहरी सांसद मालाराज्य लक्ष्मी शाह, बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष गणेश गोदियाल, मुख्य कार्याधिकारी बीडी भसह आदि मौजूद थे.

गढ़वाल हिमालय में स्थित बद्रीनाथ सहित चारों धाम शीतकाल में भारी बर्फवारी और भीषण ठंड की चपेट में रहने के कारण श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिये जाते हैं जो अगले साल दोबारा अप्रैल—मई में खोले जाते हैं.

गढ़वाल की आॢथक रीढ माने जाने वाली छह माह की इस वाॢषक चार धाम यात्रा के दौरान देश—विदेश से लाखों श्रद्धालु और पर्यटक इनके दर्शनों को पहुंचते हैं.