गन्ना ढुलाई का भाड़ा ₹5 प्रति क्विंटल बढ़ा दिया गया, अवैध वसूली भी जारी–सुनील कुमार राव

ब्यूरो रिपोर्ट प0 चंपारण

बेतिया। पश्चिमी चंपारण समाहरणालय के समक्ष अखिल भारतीय किसान महासभा के तत्वधान में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया गया। बढ़ती महंगाई का तर्क देकर चीनी मिलों द्वारा गन्ना ढुलाई का भाड़ा ₹5 प्रति क्विंटल बढ़ा दिया गया। लेकिन उसी महंगाई के हिसाब से गन्ना उत्पादन में लागत के अनुसार गन्ना का मूल्य नहीं बढ़ाया गया। ऊपर से भाडे में नाजायज वसूली लौकरिया कांटा पर ₹12 प्रति क्विंटल तो फ़ुलियाखाड़ खान में ₹15, सरिसवा क्षेत्र में ₹45 अतिरिक्त वसूला जा रहा है। उक्त बातें संघ के जिला संयोजक सुनील कुमार राव ने कहा। उन्होंने आगे बताया कि इस संबंध में बिहार सरकार मुख्यमंत्री को प0 चंपारण जिला पदाधिकारी के माध्यम से ज्ञापन सौंपा गया है। दूर-दराज के सभी तौल केंद्रों ठकराहा, मधुबनी, बैरिया, योगापट्टी आदि सहित सभी प्रखंडों के तौल केंद्रों पर चलान का संकट पैदा कर ₹170 से लेकर ₹230 तक गन्ना प्रति क्विंटल के हिसाब से गन्ना खरीद लिया जा रहा है। जिसमें गन्ना मंत्री से लेकर मिल प्रबंधक तक की हिस्सेदारी बताई जा रही है। इसी तरह रिजेक्ट प्रभेद और घटतौली के जरिए लूट हो रही है। उन्होंने आगे बताया कि ज्ञापन के माध्यम से गन्ना के प्रभेदों में अंतर नहीं करने, गन्ने का मूल्य ₹400 प्रति क्विंटल किया जाना, रिजेक्ट प्रभेदों के नाम पर उसके चालान की बिक्री चीनी मिलों द्वारा गन्ने लेने से इनकार करने, दूरदराज के क्षेत्रों जैसे ठकराहा, मधुबनी प्रखंड आदि में अवैध उगाही पर रोक लगाना है, बाढ़ से बर्बाद करने की मुआवजा राशि के लाभार्थी किसानों की सूची सार्वजनिक की जाए आदि मांग शामिल है। इन मांगों पर सरकार ध्यान आकृष्ट नहीं करती है, तो आंदोलन की गति को और तेज किया जाएगा। इस मौके पर इंद्रदेव कुशवाहा, शंभू प्रसाद सिंह, सतनारायण प्रसाद कुशवाहा, लाल बाबू कुशवाहा, विनोद कुशवाहा सहित कई उपस्थित रहे।

Check Also

भाजपा व जदयू ने सयुक्त रूप से शोक सभा किया आयोजित

🔊 Listen to this फोटो- सिकटा (चितंरजन कुमार गुप्ता) । सत्संग भवन (धर्मशाला ) में …