आरटीआई से खुलासा हुआ प्रधानमंत्री के स्टाइलिस्ट पोशाक खर्च का राज .

दिल्ली: अक्सर विपक्ष में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वेस कीमती पोशाक पहनने को लेकर उनको निशाने पर लिया जाता रहा है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तो कई बार मोदी सरकार को सूट-बूट की सरकार भी कहा. ऐसे में लोगों के मन में ये सवाल उठता रहता है कि पीएम के स्टाइलिश कपड़ों पर कितना खर्च होता होगा और ये खर्च कौन करता होगा. इसी सवाल का जवाब जानने के लिए एक शख्स ने आरटीआई डाली जिसके जवाब में पीएमओ ने बेहद दिलचस्प जानकारी साझा की है.

9 दिसंबर को रोहित सब्बरवाल नाम के शख्स ने सूचना के अधिकार के तहत ये आरटीआई डाली थी. रोहित सब्बरवाल ने प्रधानमंत्रियों के कपड़ों पर खर्चे की जानकारी मांगी थी. जवाब में प्रधानमंत्री कार्यालय ने साफ कर दिया है कि पीएम मोदी के निजी पोशाक पर खर्च की जाने वाली रकम भारत सरकार वहन नहीं करती है.

पीएमओ ने जवाब में साफ-साफ कहा है कि मांगी गई सूचना व्यक्तिगत किस्म की है और इसे सरकारी रिकॉर्ड में शामिल नहीं किया जाता है. पीएमओ ने जवाब में यह भी कहा कि पीएम के निजी लिबास पर खर्च की गई राशि सरकार वहन नहीं करती है और ये खर्च पीएम अपने वेतन से ही करते हैं.

बहुत से लोगों को अब तक ऐसा लगता था कि पीएम मोदी के कपड़ों पर सरकारी खजाने से बड़ी रकम खर्च की गई है. अब माना जा रहा है कि आरटीआई से मिली इस जानकारी के बाद लोगों का यह भ्रम दूर हो गया होगा.

Check Also

भीख मांगते बच्‍चों का भविष्‍य बनाने को शुरू की 17 हजार किमी की पदयात्रा

🔊 Listen to this  युवा इंजीनियर आशीष शर्मा ने बाल भिक्षावृत्ति रोकने के लिए एक …