एक के बाद, विधुत विभाग खुसकीबाग के कई कारनामे उजागर .

पुर्णिया (मनोज मिश्रा)  विधुत विभाग खुसकीबाग कार्यलय के अधिकारी के कारनामो का काला चिट्टा एक के बाद एक खुलकर सामने आने लगा है .
इन अधिकारियों के कारनामा के कारण विधुत विभाग पुर्णिया में हलचंल का माहौल बना हुआ है.

बता दे कि बुधवार को गुलाबबाग स्थित दीपक केडिया के प्रतिष्ठान में लगे मीटर की जांच करने पहुँचे पूर्णिया विधुत विभाग के कर्यपालक अभियंता प्रणव कुमार ने लगे मीटर को वैसा सेक्सन का खराब मीटर में नया सील पाया जो साफ तौर पर खुसकीबाग विधुत विभाग के वरीय अधिकारी की मिली भगत से विभाग की राजस्व का छति और अपना निजी लाभ के साथ साथ व्यवसाई को लाभ पहुचाने के लिए ऐसा कारनामो को अंजाम दिया गया है .हलाकि इस जांच के बाद ही पुर्णिया विधुत विभाग को खुसकीबाग सेक्सन के जेई और एसडीओ की सरकारी राजस्व को वर्षो से छति पहुचते हुए अपने और इन के खास व्यवसाई को लाभ पहुचाने का कई कारनामो का पता चल चुका है , पर विभाग की कार्यवाही अभी स्थिर है.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अब्ददुला नगर स्थित ठाकुर रामेश्वर सिहं ने सिचाई करने के लिए निजी ट्रान्सफार्मर लगाया था . जिसका विभाग का बिजली बकाया करीब 23 लाख हो गया . साथ ही ट्रान्सफार्मर तक बिजली चालू करने के लिए घोसपरा से 11 हजार पॉवर तार को ट्रान्सफार्मर तक लाया गया था . विधुत कार्यलय खुसकीबाग के अधिकारी दिनांक 3 मई 2015 को विभागीय अनुशंसा के बिना ही अचानक ही उस एरिया से 11 हजार पॉवर के तार और 23 लाख के बकाया बिल का ट्रान्सफार्मर को अपना और बकायेदार को लाभ पहुचते हुए हटा दिया गया .

वैसे DS कंज्यूमर की संख्या गुलाबबाग में एक हजार के करीब है . इन सभी को जल्द लाभ पहुचाने के लिए अधिकारी निजी तौर पर 63 केवी का ट्रान्सफार्मर को अपने खास पहचान के व्यवसाई के फेक्ट्री में रख कर मोटी रकम की उगाही करते हुए पहुचा रहे है . दीपक केडिया जैसे ही श्रवण अग्रवाल हसदा को भी भारी भरकम बिल में राहत पहुचाने का काम किया गया है .

वर्ष 2016-17 में गुलाबबाग और खुसकीबाग डिवीजन से 300 केबी का कॉपर तार को हटाकर एजेन्सी के माध्यम से लगया गया है , आज वह 300 केबी का तांबा तार को विभाग स्थल पर नही रख कर SDO सुनील कुमार अपने निजी आवास में रख कर घर की शोभा बढ़ा रहे है . जब की पुर्णिया विधुत विभाग कार्यपाल अभियंता प्रणव कुमार ने इस तरह के अधिकार मामले को संगीन बताया है . साथ ही उन्होंने यह भी कहा की इस तरह के गम्भीर मामलों का जांच विभाग जरूर करेगी . जांच में अनियमितता पाने पर किसी को बक्सा नही जाएगा , चाहे कर्यरत एजेंसी हो या फिर विभाग के अधिकारी .

SDOसुनील कुमार ने विभाग के सारे समान पर आधिपत्य जताते हुए बताया की जब तक हम चार्ज में विभाग का तार एवं अन्य समान हमे कही भी रखने का अधिकार है .

Check Also

गुलशन हत्या कांड मे पुलिस की निष्क्रियता पर परिजन व ग्रामीणो मे आक्रोश व्याप्त .

🔊 Listen to this  योगापटटी – छात्र गुलशन कुमार के हत्या कांड मे पुलिस की …