All for Joomla All for Webmasters
January 17, 2018
You can use WP menu builder to build menus

पटनासिटी (बृज भूषण कुमार) डायविटीज के मरीज भी मकर संक्रान्ति के दिन दही-चुडा के साथ तिलकुट खा सकते है । तिलकूट के व्यवसाय करने वाले ने शुगर फ्री तिलकूट भी बनाना शुरू कर दिया है । ऐसे में शुगर की बीमारी से पीड़ित लोग भी इस पर्व में तिलकूट खा सकते है । पटना सिटी के भगत सिंह चौक समेत पटना सिटी के बाजारों में इन दिनों तिलकुट का बाजार गर्म है ! मकर संक्रान्ति आते ही दुकानदार एक पखबारा 
पूर्व से ही तिलकुट बनाने में जुट जाते है ! साल में एक बार आने बाला इस त्यौहार को लेकर राजधानी में दूर- दूर से आये तिलकुट कारीगरो तिलकुट कूटने में जुट जाते है और इस व्यवसाय से वे अपने परिवार का निर्वाह करते है ! तिलकुट कारीगरों द्वारा एक से बढ़ कर एक स्वादिष्ट तिलकुट बनाये जा रहे है ! जिसमे चीनी ,गुड़ ,मलाई ,मावा , ड्राई-फ्रूट और शुगर फ्री वाली तिलकुट काफी मशहूर है। पटना सिटी चौक का मशहूर केशरिया तिलकुट दूकान से दूर -दूर के लोग तिलकुट ले जातें हैं , बिहार के विधायक,सांसद और मंत्रीयो के यहाँ भी इस दूकान से तिलकुट जाता है !ऐसे पौराणिक मान्यताओ के अनुसार मकर संक्रान्ति के दिन तील से बने सामग्री खाना विशेष फल दाई माना जाता है !  मकर संक्रान्ति के दिन ग्रहों के अधिपति सूर्य धनु राशी से मकर राशी में प्रवेश करते है ! जिससे एक माह का लगा खरमास भी समाप्त हो जाता है और मकर संक्रान्ति के दिन से ही शुभ कार्य प्रारंभ हो जाते है !