बाघ देखे जाने की अफवाह से दहशत में ग्रामीण: मौके पर वन विभाग की टीम पहुँचकर की जाँच

फोटो: पगमार्क का निशानों की जाँच करते वन विभाग की टीम

अमरपुर (प्रीतम सुमन)  अमरपुर (निसं) क्षेत्र में बाघ देखे जाने की अफवाह से रातभर जागकर ग्रामीण बुरी तरह दहशत में दिख रहे हैं।वहीं नगर पंचायत के मोदी टोला स्थित परशुराम मंडल के खेतों में बाघ के पंजो का निशान देखकर ग्रामीणों की भीड़ ईकट्ठी हो गयी ।वार्ड नं सात के निवासी मुकेश ठाकुड़ ने बताया बीती रात्री अपने दोस्तों के साथ घोड़े को चारा देने के लिए गया था वापस लौटने के क्रम में ट्रांसफर्मर के पास दहाड़ने की आवाज सुनी तो टार्च जलाकर देखा तो बाघ ऐसा दिखने वाला जानवर छलांग मारकर गन्ने की खेत में छिप गया किसी तरह भागकर अपनी और अपने दोस्तों की जान बचाई।वहीं दुसरी तरफ क्षेत्र के बनियाचक गाँव के ग्रामीण जितेन्द्र कुमार, सुभाष मंडल,नरसिंह शर्मा, राजेन्द्र ताँती, शंकर ताँती, भौनी ताँती, अमीत कुमार, सुनील कुमार, प्रमोद ताँती, सुबोद ताँती, आदि ग्रामीणों ने बताया गुरूवार को अहले सुबह जब शौच करने जा रहे थे तो बाघ जैसा दिखने वाला जानवर छलांग लगाते हुए तारडीह बहियार की और भाग गये।

वहीं सुचना मिलते ही बाँका जिले के वन विभाग के पदाधिकारी शिवशंकर प्रसाद, फोरेस्ट ऑफिसर रोबिन आनन्द, वन रक्षी गार्ड राहुल झा समेत अन्य कर्मी अमरपुर पहुँचकर परशुराम मंडल के खेतों से जानवर के पंजो का निशान लिये।मौके पर इन्होने बताया इन निशानों पर अध्ययन किया जाएगा।पगमार्क से प्रथम दृष्टि में लगता है यह हायना नाम के जानवर की निशान है।अगर बाघ होता तो आम लोगों को अब तक नुकसान होती।हालांकि अधिकारियों ने ग्रामीणों से कहा जल्द ही सच्चाई सामने आ जाएगी।फिलहाल सावधान रहने की जरूरत है।

Check Also

गुलशन हत्या कांड मे पुलिस की निष्क्रियता पर परिजन व ग्रामीणो मे आक्रोश व्याप्त .

🔊 Listen to this  योगापटटी – छात्र गुलशन कुमार के हत्या कांड मे पुलिस की …