होम सेंटर को लेकर छात्रों ने दूसरे दिन एनएच को किया जाम

हाजीपुर (राजा बाबू) प्रायोगिक परीक्षा होम सेंटर पर कराने की मांग को लेकर छात्रों ने मंगलवार को दिनभर हंगामा किया। छात्रों के बवाल के कारण दूसरे दिन भी शहर अशांत और जाम की चपेट में रहा। आक्रोशित छात्रों ने पहले 11 बजे से दोपहर के 1 बजे तक अनवरपुर चौक पर अगजनी की और सरकार और शिक्षा मंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसके बाद दोपहर के करीब 02 बजे वे एनएच-19 पर पासवान चौक के पास जाम लगा दिया। शाम के करीब 5:30 बजे तक जाम लगाए छात्र बिहार बोर्ड के सचिव और शिक्षामंत्री को बुलाने की मांग पर अड़े थे। इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज किया, तब जाकर जाम खुल सका। पुलिस ने पांच छात्रों को भी हिरासत में लिया है।

सुबह करीब 11 बजे अनवरपुर चौक पर सैकड़ों छात्रों ने प्रैक्टिकल की परीक्षा को होम सेंटर पर कराने मांग को लेकर सड़क जाम कर दिया। सूचना मिलते ही नगर और सदर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और जाम कर रहे लोगों को वहां से हटा। इसके बाद आक्रोशित छात्र पासवान चौक पहुंच गए। यहां अधिक संख्या हुई तो उग्र छात्रों ने सड़क पर टॉयर जलाकर आगजनी कर दी। जाम और हंगामे की सूचना मिलते ही घटनास्थल पर औद्योगिक और गंगाब्रिज थाने की पुलिस दल-बल के साथ पहुंच गयी। पुलिस ने आक्रोशित छात्रों को समझाने की कोशिश की लेकिन वे नहीं माने और देखते ही देखते एनएच-19 पर भयंकर जाम लग गया।

बोर्ड अध्यक्ष और शिक्षा मंत्री को बुलाने की मांग

छात्र गौरव कुमार, गुलशन कुमार, किशन कुमार, दीपक कुमार, प्रकाश कुमार, विकास कुमार, बिट्टू कुमार, ललन ठाकुर, शिवम कुमार, रोहित कुमार, राहुल कुमार और नंदन कुमार आदि छात्रों का कहना था कि जबतक शिक्षा मंत्री और बोर्ड अध्यक्ष नहीं आते तबतक जाम नहीं हटाया जाएगा। छात्रों का कहना था कि ये सिर्फ वैशाली जिले के छात्र ही नहीं बल्कि पूरे बिहार की परेशानी है। सरकारी स्कूल और कॉलेजों का स्तर इसलिए गिरता जा रहा है। किसी कॉलेज में न तो प्रयोगशाला की क्लास चलती है और न ही प्रयोगशाला में कोई प्रयोगिक उपकरण या समान उपलब्ध है। शिक्षक से पूछने पर यह कहकर भगा देते हैं कि कोचिंग के शिक्षक से पूछ लो।

पुलिस ने लाठी चार्ज कर जाम हटाया

पासवान चौक पर लगभग पांच घंटे तक जाम लगे रहने पर पुलिस को शाम करीब 5:30 बजेd लाठीचार्ज करना पड़ा। तब जाकर जाम खत्म हुआ। छात्रों का उग्र तेवर देख पहले पुलिस मूक दर्शक बनी रही, लेकिन शाम होते -होते ट्रैफिक का लोड बहुत बढ़ने लगा, जिसका असर शहर में भी पड़ने लगा। शहर की भी कई सड़कें जाम की चपेट में आ गईं। जिसके बाद पुलिस ने छात्रों पर हल्का बल प्रयोग करते हुए लाठी चार्ज किया। जिसके बाद छात्रों में हडकंप मच गया। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे 4 छात्रों को हिरासत में ले लिया। थानाध्यक्ष मधुरेन्द्र कुमार ने बताया की इन छात्रों को हिरासत में लिया गया है और आगे की कार्रवाई की जा रही है।

जाम से एनएच समेत पूरा शहर कराह उठा

पासवान चौक पर हुए आगजनी के कारण एनएच-19 व एनएच 77 समेत पूरा शहर जाम से कराह उठा। करीब पांच घंटों तक जाम में यात्री फंसे रहे। पटना से आने वाली और मुजफ्फरपुर व छपरा से पटना जानेवाली गाड़ियों की रफ्तार पर एकाएक ब्रेक लग गया। जाम के कहर से धीरे-धीर पूरा शहर प्रभावित हो गया। गांधी चौक, रामाशीष चौक, स्टेशन रोड, नखास चौक, जढ़ुआ रोड आदि जानेवाली सड़कें लगभग पांच घंटों तक पैक रहीं। गांधी सेतु से कार को अस्पताल रोड आने में तीन घंटे लगे।

प्रदेश के 90 प्रतिशत स्कूल में शिक्षकों की भारी कमी

Check Also

गुलशन हत्या कांड मे पुलिस की निष्क्रियता पर परिजन व ग्रामीणो मे आक्रोश व्याप्त .

🔊 Listen to this  योगापटटी – छात्र गुलशन कुमार के हत्या कांड मे पुलिस की …