All for Joomla All for Webmasters
January 19, 2018
You can use WP menu builder to build menus

 

(मनोज मिश्रा): नेशनल इमरजेंसी सिस्टम के तरह ही जल्द इमरजेंसी नम्बर 112 बिहार के सभी जिला में सक्रिय होने वाला था. इस न0112 से पुलिस सेवा, एम्बुलेंस सेवा, आपदा, समाज कल्याण और अग्निशमन सेवा से संपर्क कर सुविधा प्राप्त किये जाने का प्रवधान है .एक ही न0 के कॉल से कम्प्यूटर सिस्टम के माध्यम से सम्बंधित विभाग के पास कॉल पहुँच जाएगा .

गौरतलब हो कि इन सुविधाओं को प्राप्त करने के लिए 100,101,102 और 108 न0 से विभाग को घटना की जानकारी दिया जाता है . केन्द्र सरकार ने जारी सभी न0 कि बजाय विदेशों की तर्ज पर 112 न0 को चुना ,देश के कई राज्यो में 112न0 पर कॉल सुविधा संचालन किया जा रहा है .केंद्र सरकार ने वर्ष 2017 के अंत तक मे बिहार में इस 112 न0 कि सुविधा को जारी करने का फैसला लिया था जिस में बिहार सरकार की सहमति शामिल है.

जल्द ही पटना में इमरजेंसी सिस्टम के लिए कंट्रोल रूम बनाये जाने कॉल सेंटर की तरह काम करने एंव सम्बंधित विभाग की गाड़ियों में जीपीआरएस सिस्टम लगाया जाएगा जो विभाग की हर गाड़ी का मूवमेंट कंट्रोल रूम के कम्प्यूटर स्क्रीन पर दिखाई देगा. पीड़ित का कॉल आने से डिस्पेज सिस्टम में कॉल जाएगी . पीड़ित से लेकर सम्बंधित विभाग गाड़ी घटना स्थल पहुचने तक का ब्यौरा एसएमएस के माध्यम से कंट्रोल रूम की निगरानी में रहेगा .

केन्द्र सरकार की तरफ से वर्ष 2017 के अंत तक इस योजना को सभी राज्यो में शुरू करने का लक्ष्य रखा गया है .जिसमे कई राज्य के जिला वार में इस योजना का संचालन किया जा रहा है .
लेकिन बिहार में अभी तक इस योजना की शुरुआत तक नही हुई है .बिहार सरकार ने इस योजना के लिए अब तक जमीन मुहैया करने में फिसड्डी साबित हुई है .
जब की केन्द्र सरकार योजना के लिए 10 करोड़ की राशि जारी कर चुकी है .