All for Joomla All for Webmasters
January 23, 2018
You can use WP menu builder to build menus

समस्तीपुर से लक्ष्मी प्रसाद/रवि कुमार

ताजपुर। प्रखंड क्षेत्र में खनन माफिया हो रहे हैं मालोमाल वहीं किसान हो रहे हैं बर्बाद।बताते चले कि मनरेगा योजना के तहत मिट्टीकरण कार्यों में अभिकर्ताओं द्वारा बिचौलियों को काम दे दिया जाता है।बिचौलिया निजी, गैरमजरुआ,नदी, पोखरे से जेसीबी से गढ्ढा कर मिट्टी निकालकर बेच देते हैं।बिचौलिया मनरेगा योजना में तो मिट्टी देते हैं,इसके साथसाथ निजी स्तर से भी मिट्टी बेचते हैं।गैरमजरुआ,नदी से मिट्टी काटकर अवैध रुप से बेचते हैं।सरकारी मानक तीन फीट से ज्यादा गढ्ढा नहीं करना है,लेकिन बिचौलिया इसका घोर उल्लंघन कर रहे हैं। गढ्ढे हो जाने के कारण किसानों का आसपास की खेती योग्य जमीन बर्बाद होते जा रहे हैं।पैसे के लालच में किसान भी मिट्टी बेच देते हैं।परिणाम होता है जेसीबी से मिट्टी काटने से बगल के किसान का खेत बर्बाद होने लगता है।बिचौलिया औने पौने दामों पर किसान को जमीन बेचने पर विवश कर डालता है।किसानों के बीच मारपीट व खुनी संघर्ष की नौबत आ जाती है। बिचौलिया किसानों से औनेपौने दामों में जमीन खरीद कर गढ्ढा कर डालते हैं।

जेसीबी से किये जा रहे गढ्ढे का धंसना गिरने कई मजदूर व बच्चों की मौत हो चूकी है।प्रखंड क्षेत्र में मिट्टी खनन का यह अबैध खेल वर्षो से चल रहा है। जिसके कारण कई चौड़ में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए है।इधर सीओ रामेश्वर राम ने इस संबंध में पूछने पर बताया की तीन फीट से अधिक मिट्टी काटना अवैध है।शिकायत का आवेदन आनेपर जांचोपरांत कारवाई की जायेगी।