पुरैनी प्रखंड में है सुविधाओं की कमी ,प्रखंड मुख्यालय सहित मुख्य बाजार में नागरिक सुविधाओं का पूर्णतः अभाव है।

मधेपुरा (अभिषेक आचार्य) ज्ञात हो कि यहां के विधायक सह  पूर्व मंत्री नरेंद्र नारायण यादव का ग्रह प्रखंड होने के बावजूद भी या मूलभूत सुविधाओं का अभाव हमेशा  से ही रहा है।

पुरैनी बाज़ार अपने आसपास 10 किलोमीटर में सबसे बड़ा बाजार है

(1) जल निकासी के लिए लाखों लाख लगाकर नाले का निर्माण किया गया था लेकिन उचित समय समय पर नाले की सफाई नहीं कराए जाने के कारण मुख्य बाजार एवं सड़क पर जलजमाव की समस्या हमेशा ही बनी रहती है

(2) बड़ी हॉट स्थित सरस्वती मंदिर के सामने हाई मास्क लाइट सिर्फ शोभा देने वाली वस्तु बनकर रह गई है ज्ञात हो कि या हाई मास्क लाइट 10 वर्ष पहले पूर्व सांसद शरद यादव के फंड से लगाया गया था लेकिन यह मात्र 6 महीने मैं ही खराब हो गया।

(3) प्रखंड बनने के 23 साल बाद भी पुरैनी में हाई स्कूल की स्थापना नहीं हो सकी प्रखंड मुख्यालय में हाई स्कूल की स्थापना के प्रति अधिकारियों के द्वारा बरता जा रहा उदासीन रवैया लोगों में आक्रोश पैदा कर रहा है मुख्यालय के छात्र-छात्राओं को उचित शिक्षा प्राप्त करने के लिए  मुख्यालय से 4 किलोमीटर दूर वासुदेव हाई स्कूल नया  टोला जाना पड़ता है

(4) अगर बात पूरे पुरैनी प्रखंड की की जाए तो पूरे पुरैनी प्रखंड में एकमात्र ATM Central Bank के नीचे है और यह ATM भी महीने में 2 दिन के लिए खुलता है।

ATM के दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति में होने के कारण बैंकों मैं लोगों के द्वारा निकासी की भीड़ का दबाव देखने को मिलता है।

(5) मुख्य बाजार में अतिक्रमण के कारण आय दिन जाम जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है जिससे कि खरीदारी करने आए हुए लोगों को भारी दिक्कत दारी का सामना करना पड़ता है। सीओ के द्वारा अतिक्रमण को लेकर सरकारी जमीन को अतिक्रमित करने वाले लोगों को तीन महीना पहले नोटिस भी दिया गया था लेकिन उसके बाद अभी तक भी जमीन को अतिक्रमण से मुक्त नहीं किया जा सका है ।

(6)एक भी सामुदायिक सुदृढ़ शौचालय ना होने के कारण खरीदारी करने आए हुए महिला एवं पुरुषों को हमेशा ही परेशानी झेलनी पड़ती है।

स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने इन सभी समस्याओं से अपना पल्ला झाड़ते हुए सरकार और अफसरों पर इस दोष का ठीकरा फोड रहे हैं।

Check Also

AAP govt gives ‘in-principle’ nod for purchase of e-buses

AAP govt gives ‘in-principle’ nod for purchase of e-buses

🔊 Listen to this Fleet to hit the streets by June-July next year, says Sisodia …