All for Joomla All for Webmasters
April 24, 2018
You can use WP menu builder to build menus

ब्यूरो रिपोर्ट प0 चंपारण

बेतिया। बेतिया में भाजपा-जदयू सरकार ने कारपोरेट घरानों और भू माफियाओ की तरफ से हमला बोल दिया है। 29 नवम्बर को तोड गए सैकड़ो घरो के पुनः निर्माण के साथ मुआवजा दे सरकार, बेतिया राज की जमीन पर वीएएस कर रहे सभी लोगो , दुकानदारो को उनकी जमीन का लीज हो, 29-30 नवम्बर दोनो दिन लाठी चार्ज की निंदा भाकपा, भाकपा, भाकपा माले ने एक सयुक्त ब्यान में बेतिया राज की जमीन में 40-50 वर्षो से बसे हुए नागरिको के घरों को बुलडोजर से ध्वस्त करने की घटना को नीतीश सरकार की घोर अमीर परस्त व जन विरोधी कार्यवाही बताया है। कड़ाके की ढंड में लोगो को उजाड़ने से ज्यादा और क्या जुल्म हो सकता है। भाजपा-जदयू सरकार ने बड़े भू माफियाओ, बड़ी कम्पनियो बिल्डरों के लिए यहां के नागरिकों पर हमला बोल दिया है। जैसे युद्ध के समय बर्बादी तबाही के दृश्य होते है वैसी ही स्थिति बेतिया बुद्धा कॉलोनी में बसे लोगो के ध्वस्त घरो का दृश्य है। लोग अपने समान के साथ विलखते रोते सड़को पर, बगीचों में अपनी जाड़े की रात काट रहे है। उक्त वक्तब्य बेतिया राज की जमीन पर बने ध्वस्त मुहल्ले की जाँच पड़ताल के बाद लौटने के बाद वामपंथी नेताओ ने दिया। नेताओ ने अपने अपने वक्तब्य में कहा है कि बिहार सरकार को यदि राजस्व से मतलब रहता तो वह बेतिया राज की जमीन पर वास कर रहे लोगो को दुकानदारो को जमीन लीज पर देती। लेकिन सरकार जनता से जमीन छीन कर कारपोरेट घरानों, बिल्डरों, भू-माफियाओ को देने की योजना पर अमल कर रही है। बिहार सरकार का भू राजस्व विभाग 8200 परिवारों को उजाड़ने के लिए अपनी कानूनी औपचारिकता पूरी करने की बात कह रहा है। जिसमे बुद्धा कॉलोनी, हजारी पशु मेला के 1017 घरों समेत दुर्गा बाग, नाओरंगाबाग, पियूनिबाग, राज देवड़ी महारानी जानकी कुँअर जैसे कई मुहल्ले है। सरकार अपनी इस तरह की योजना से पूरे बेतिया को ध्वस्त करना चाहती है। वामपंथी पार्टिया इसका विरोध करेगी। नेताओ ने ध्वस्त बुद्धा कॉलोनी के घरों के पुनः निर्माण, मुआवजा के साथ बेतिया राज की जमीन में वास कर रहे लोगो, दुकानदारो के जमीन की लीज करने की मांग किया है। साथ ही नेताओ ने यह भी कहा है कि बेतिया राज की लाखों एकड़ जमीन की बंदरबाट, चिनिमिलो, इंस्टेटो, बड़े-भूपतियो, राज नेताओ, भूमाफियाओं ने किया है। उसे ध्वस्त किया जाए और आवास भूमि विहीन गरीबो, दुकानदारो में वितरित किया जाए। उसे सार्वजनिक इस्तेमाल किया जाए। तीनो कम्युनिस्ट पार्टिया हर हाल में जनता से जमीन छीन कर कारपोरेट , बिल्डरों, भूमाफियाओं के निजी हाथों में देने का विरोध करेगी। मौके पर भाकपा माले वीरेंद्र प्र0 गुप्ता, सीपीआई ओम प्रकाश क्रांति, सीपीएम प्रभुराज नरायण राव सहित कई उपस्थित रहे।