उजियारपुर।33 माह से न्याय मित्र एवं सचिवों का मानदेय लंबित  

 

समस्तीपुर से लक्ष्मी प्रसाद

समस्तीपुर जिला अंतर्गत उजियारपुर प्रखंड के सभी 28 ग्राम कचहरी मे कार्यरत न्याय मित्र एवं सचिव का मानदेय पिछले 33 माह से लटका हुआ है। जबकि इसी जिले के अन्य प्रखंडों मे इन कर्मियों का मानदेय नियमित रूप से भुगतान हो रहा है। विभाग की इस तरह की लापरवाही के कारण यहां के न्याय मित्र एवं सचिवों मे घोर निराशा एवं आक्रोश व्याप्त है। इस बाबत न्याय मित्र नवीन कुमार झा सहित अन्य कर्मचारियों ने बताया कि उजियारपुर प्रखंड कार्यालय द्बारा समय पर उपयोगिता प्रमाण पत्र नहीं भेजने के कारण उनके मानदेय की आवंटित राशि को मार्च 2017 मे लौटा दिया गया। अब तक प्रखंड मे इन कर्मियों का तीन बार राशि लौटाए जा चुके है। अब चौथी बार भी राशि लौटने का ही उम्मीद लग रहा है। ये कर्मी जब अपनी फरियाद लेकर बीडीओ अथवा जिला पंचायती राज पदाधिकारी के पास जाते हैं तो उन्हें बताया जाता है कि महालेखाकार पटना से कोषागार मे राशि निकासी पर लॉक लग चुका है। इसे खोलने के लिए प्रखंड एवं जिला स्तर से महालेखाकार पटना को बार बार पत्राचार किया जा चुका है। अब वास्तविकता जो भी हो, परन्तु न्याय मित्र एवं सचिव को मानदेय की राशि का इतने महीनों से बकाया रखना सुशासन की सरकार की सच्चाई बता रही है। न्याय मित्रों ने अपने बकाया मानदेय के भुगतान हेतु यथाशीघ्र आंदोलन करने की घोषणा की है।

Check Also

जावेद बने प्रखंड सिकटा के राजद के कार्यकारी अध्यक्ष !

🔊 Listen to this  जावेद अख्तर उर्फ पप्पू   सिकटा(चितंरजन कुमार गुप्ता )। प्रखंड राजद के …