All for Joomla All for Webmasters
December 16, 2017
You can use WP menu builder to build menus

 

समस्तीपुर से लक्ष्मी प्रसाद

समस्तीपुर जिला अंतर्गत उजियारपुर प्रखंड के सभी 28 ग्राम कचहरी मे कार्यरत न्याय मित्र एवं सचिव का मानदेय पिछले 33 माह से लटका हुआ है। जबकि इसी जिले के अन्य प्रखंडों मे इन कर्मियों का मानदेय नियमित रूप से भुगतान हो रहा है। विभाग की इस तरह की लापरवाही के कारण यहां के न्याय मित्र एवं सचिवों मे घोर निराशा एवं आक्रोश व्याप्त है। इस बाबत न्याय मित्र नवीन कुमार झा सहित अन्य कर्मचारियों ने बताया कि उजियारपुर प्रखंड कार्यालय द्बारा समय पर उपयोगिता प्रमाण पत्र नहीं भेजने के कारण उनके मानदेय की आवंटित राशि को मार्च 2017 मे लौटा दिया गया। अब तक प्रखंड मे इन कर्मियों का तीन बार राशि लौटाए जा चुके है। अब चौथी बार भी राशि लौटने का ही उम्मीद लग रहा है। ये कर्मी जब अपनी फरियाद लेकर बीडीओ अथवा जिला पंचायती राज पदाधिकारी के पास जाते हैं तो उन्हें बताया जाता है कि महालेखाकार पटना से कोषागार मे राशि निकासी पर लॉक लग चुका है। इसे खोलने के लिए प्रखंड एवं जिला स्तर से महालेखाकार पटना को बार बार पत्राचार किया जा चुका है। अब वास्तविकता जो भी हो, परन्तु न्याय मित्र एवं सचिव को मानदेय की राशि का इतने महीनों से बकाया रखना सुशासन की सरकार की सच्चाई बता रही है। न्याय मित्रों ने अपने बकाया मानदेय के भुगतान हेतु यथाशीघ्र आंदोलन करने की घोषणा की है।