All for Joomla All for Webmasters
April 24, 2018
You can use WP menu builder to build menus

Report: Ranjan Sinha/Sarvesh Kashyap

बाढ़ में फंसे लोगो के मदद में भोजपुरी सिनेमा के जुबली स्टार दिनेश लाल यादव और प्रसिद्ध अभिनेत्री आम्रपाली दुबे के सौजन्य से बाढ़ पीड़ितों के सहायतार्थ राहत सामग्री रवाना हुआ। बाढ़ की जानकारी मिलये ही दिनेश लाल यादव निरहुआ और् आम्रपाली दुबे सोमवार को पटना के रास्ते छपरा और उसके आसपास के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया और राहत सामग्री का वितरण भी किया था।

लेकिन बाढ़ का प्रकोप बहुत है और कम समय मे ज्यादा से ज्यादा मदद करने के भाव से निरहुआ ने आज पटना से कई इलाकों के लिए विरतण हेतु राहत सामग्री रावना किया।बाढ़ पीड़ितों की दशा देख निरहुआ और् आम्रपाली काफी आहत हैं और कम समय मे ज्यादा से ज्यादा मदद करना चाहती है।इस् उद्देश्य से इस् जोड़ी ने 16 सितंबर को मुम्बई में एक चैरिटी शो का आयोजन भी किया जाएगा जिसमे भोजपुरी सिने इंडस्ट्री से जुड़े दिग्गज भाग लेंगे और जमा की गई राशि से पीड़ितों की मदद की जाएगी।

दिनेश लाल यादव निरहुआ ने बताया कि छपरा के तरैय्या प्रखंड में लोवांधेनुकी आदि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रो के भ्रमण से मुझे बाढ़ पीड़ितों के दुखों का आभास हुआ । उसे देख मैं दिल से दुखी हूँ। और् हमारे पीड़ित भाइयो के मदद के लिए हर सम्भव प्रयास करूंगा। इस् ओंर मेरा पहला कदम बढ़ चुका है और् 16 सितंबर को एक चैरिटी शो के आयोजन से जो राशि एकत्रित होगी उसे पीड़ितों के में लगाया जाएगा।ऐसे विकट परिस्थिति में मैं अपने उद्योग में कार्यरत लोगो से अपील करता हु की यथा सम्भव हर व्यक्ति इसे अपना धर्म समझे और् मदद को आगे आएं। भगवान ने हमे सायद इसी घड़ी के लिए हमे सम्पन्न बनाया है।

मौके पर वितरक निशांत उज्ज्वल,पी आर ओ सर्वेश कश्यप,शुशांत उज्ज्वल और सुनील कुमार गुप्ता इत्यादि कई लोग मौजूद थे। सरकार का सहयोग सराहना करते हुए आम्रपाली दुबे का कहना है कि इस् परिस्थिति में सरकार हर सम्भव मदद कर् ही रही है लेकिन आम जन के सहयोग बिना ये अधूरा सा लगता है। हम मानवता के नाते सामने आये और इस् परिस्थिति में पीड़ित लोगों के सहायतार्थ बढ़ चढ़ कर आगे आएं और खाद्य सामग्री,जरूरी चीजे या अपने पुराने कपड़े तक जो भी बन पाए जरूरतमंद लोगों तक पहुचाएं। बाढ़ग्रस्त इलाको की स्थिति अभी भी काफी भयावह है,इससे निपटने के लिए कोई पुख्ता इंतेज़ाम किया जाना चाहिए। कई दिनों से लोग दिन रात परेशान है। बहुत जल्द ही हम एक बार फिर इन पीड़ितों के बीच आएंगे और अपने योजना पर् कार्य करेंगे।