बाढ़ में फंसे लोगो के मदद के लिए पहुंची पाखी हेगड़े 

Report: Team Ranjan
बाढ़ में फंसे लोगो के मदद के लिए प्रसिद्ध अभिनेत्री पाखी हेगड़े आज बाढ़ पीड़ितों के बीच मौजूद थी। ऐसा पहली बार हुआ है कि कोई फिल्म का सितारा बाढ़ पीड़ितों के बीच जा कर उसके दुख दर्द को देखा और हर सम्भव मदद का आश्वाशन भी दिया।
पाखी हेगड़े गुरुवार को बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर जिले में बाढ़ प्रभावित इलाके बन्दरा, गायघाट,बोचहा,ब्लॉक अंतर्गत  बड़गाँव,सिमरा,आठर, गुरमी इत्यादि गाँव जाकर बाढ़ पीड़ितों से मिली और राहत सामग्री का वितरण किया। मौके पर वितरक निशांत उज्ज्वल, पी आर ओ सर्वेश कश्यप,कुन्दन कुमार, संदीप इत्यादि भी मौजूद रहें।
बाढ़ की स्थिति देख पाखी काफी द्रवित थी और बताया की बिहार में बाढ़ग्रस्त इलाको की स्थिति काफी भयावह है,लोग कई दिनों से भूखे हैं। लगभग 18 जिले इस भयानक बाढ के चपेट में हैं,सैकड़ो लोगो के मरने की खबर है ये तो सरकारी आंकड़ा है जाहिर है कुछ गैर सरकारी आंकड़ा भी होगा। इस् मुश्किल घड़ी में हमे मानवता के नाते एकजुट हो कर पीड़ितों की मदद करना चाहिए। फ़िल्म उद्योग के लोगो से मेरी अपील है सब एक मंच पर आएं और जरूरतमंद की मदद करें।
जो लोग व्यस्त  हैं या यहां से बाहर हैं उनके लिए अभिनेत्री पाखी ने बिहार में आई बाढ़ के लिए लोगों से राहत कार्यों में मदद के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में योगदान की अपील की। पाखी हेगड़े ने आगे कहा, “प्राकृतिक आपदाओं पर हमारा कोई वश नहीं है। लेकिन हम स्थिति में सुधार के लिए अपना योगदान तो दे ही सकते हैं। मैं देश के सभी नागरिकों से बिहार के मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में योगदान करने की अपील भी करती हूं, ताकि सरकार भी स्थिति में सुधार के लिए काम किया जा सके। 
पाखी ने भीषण बाढ़  से बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर समेत 18 जिलों में बाढ़ के हालात से निपटने एवं प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को जल्द राहत पहुंचाने को सरकार व प्रभार मंत्रियों से भी बाढ़ प्रभावित जिलों में मदद करने की अपील की हैं।
मौके पर मौजूद पाखी ने स्थानीय प्रशासन,जनप्रतिधि और एस डी आर एफ की टीम जो दिनरात बाढ़ बचाव कार्य में लगी हुई है के कार्य को काफी सराहा है।

Check Also

वह व्यक्ति कौन था? जो150 बच्चे को मौत के मुँह में ढकेलना चाहता था। साजिशकर्ता या फिर स्कूल प्रबंधक?

🔊 Listen to this  पुर्णिया”बायसी मदीना मार्केट स्थित पॉपुलर एकेडमी छात्रावास में रविवार को दोपहर …